दामोदर राउत प्रकरणः पटनायक के खिलाफ नये समीकरण का तानाबाना

0
28

भुवनेश्वर 13 सितंबर। पूर्व कैबिनेट मंत्री वरिष्ट नेता दामोदर राउत के निष्कासन के बाद ओडिशा में बीजू जनता दल के अध्यक्ष मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के खिलाफ बिसात बिछाने की तैयारी शुरू हो गयी है। इसी कड़ी में आज पूर्व सांसद बैजयंत पंडा ने भी दामोदर राउत के निवास पर जाकर बातचीत की। उधर बीजद अध्यक्ष मुख्यमंत्री नवीन पटनायक इस प्रकरण पर कहा कि वो अपना काम कर रहे हैं। पार्टी विरोधी बयानबाजी कब तक बर्दाश्त की जाएगी।

नवीन विरोधी नेताओं ने राउत से संपर्क साधना शुरू कर दिया है। नवीन पटनायक का दाहिना हाथ रहे पूर्व सांसद बैजयंत पंडा ने पारादीप में उनके घर जाकर दामोदर राउत से बातचीत की। पंडा का कहना है कि वो राउते के साथ हैं। उन्होंने नैतिक समर्थन देने की हामी भरी है। दामोदर राउत का कहना है कि उनके निष्कासन की खबर सुनकर बैजयंत पंडा उने निवास पर आए और बातचीत की। यह उनकी ओर से सहानुभूति का कदम था। यह शिष्टाचारवश की गई मुलाकात थी। राजनीतिक सवालों को दामोदर टालते रहे।

दामोदर राउत ने यह भी कहा कि वह चुनाव जरूर लड़ेंगे। इसके लिए उन्हें बीजू जनता दल या अन्य किसी दल के टिकट की जरूरत नहीं है। पारादीप विधानसभा क्षेत्र की जनता उन्हें जानती है। जनता का उन पर विश्वास है। उनके चुनाव लड़ने में टिकट कहीं कोी बाधा उत्पन्न नहीं करती। दूसरी तरफ बैजयंत पंडा ने बताया कि वह दामोदर राउत का नैतिक समर्थन करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि इस संदर्भ में अन्य राजनीतिक निर्णय शीघ्र ही लिए जाएंगे। मालूस हो कि बैजयंत पंडा ने 28 मई को पार्टी से त्याग पत्र दे दिया था।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने गुरुवार को कहा कि बीजद से निष्कासित नेता दामोदर राउत द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोप हास्यास्पद हैं। नवीन पटनायक ने मीडिया से कहा, दामा बाबू हमेशा गैरजिम्मेदाराना बयान देते रहे हैं। उनके आरोप निर्थक व हास्यास्पद हैं। यह पूछे जाने पर कि ऐसी अटकलें हैं कि राउत व कुछ अन्य बीजद से निकाले गए नेता 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले एक नई राजनीतिक पार्टी बना सकते हैं, पटनायक ने कहा, जो भी नई पार्टी बनाना चाहते हैं, यह उनका काम है। इससे राज्य में मुझ पर कोई असर नहीं पड़ेगा। राउत को बुधवार को उनकी कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से निष्कासित कर दिया गया था। निष्कासन से पहले दिग्गज नेता ने राज्य सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। उन्होंने बीजद के कामकाज की शैली पर भी सवाल उठाया था।

राउत ने कहा, नवीन अपना पद बचाने के लिए अब बीजू बाबू के सिद्धांतों के विपरीत काम कर रहे हैं। ओडिशा के लोगों के लिए अच्छा होगा अगर मुख्यमंत्री जल्द से जल्द पद से बेदखल हो जाएं। पूर्व सांसद बैजयंत पांडा ने गुरुवार को राउत से उनके आधिकारिक आवास पर मुलाकात की। पांडा ने कहा, मैं दामोदर राउत को नैतिक समर्थन देने आया हूं। यह एक शिष्टाचार मुलाकात है और आगामी दिनों में हम पार्टी कार्रवाई पर फैसला लेने के लिए मिलेंगे और फैसले के बारे में सभी को सूचित करेंगे। पांडा को 24 जनवरी को बीजद से निलंबित कर दिया गया था। उन्होंन 28 मई को बीजद से इस्तीफा दे दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here