तितली चक्रवात गोपालपुर तट से टकराया, भारी बारिस तेज हवाएं, पेड़, खंभे टूटे

0
78

भुवनेश्वर 11 अक्टूबर। चक्रवाती तूफान तितली का ओडिशा में कुछ खास असर नहीं रहा। कई पेड़ और बिजली के खंभे टूट गए, कम्युनिकेशन प्रभावित रहा और कुछ कच्चे घरों के भी उजड़ने की खबर है। मौसम विभाग के अनुसार सुबह करीब साढ़े पांच बजे गंजाम जिले गोपालपुर और आंध्र के श्रीकाकुलम के समुद्र तट से टकराया। तब तितली की रफ्तार 140 से 150 किलोमीटर प्रतिघंटा बतायी जाती है।

तेज हवाओं के कारण कई पेड़ और बिजली के खंभे टूट गए। तटक्षेत्र में बारिस लगातार हो रही है। बताते हैं कि कई जगह भूस्खलन की भी खबर है। तितली को बहुत ही गंभीर चक्रवाती तूफान की कैटेगरी में रखा गया है।

करीब पांच बजे सुबह से इसके तटीय क्षेत्र गोपालपुर व श्रीकाकुलम में टकराने की खबर है। मौसम विभाग ने गोपालपुर तट से तितली पर निगरानी रखे हुए है। अब इसका असर कम हो रहा है।

हवाओं की गति कम हुई लेकिन बारिस जारी है। तितली से निपटने की सरकार की तैयारी के कारण जानमाल को कोई नुकसान नहीं हुआ। किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है। ओडिशा समुद्र तट खाली है।

सरकारी तंत्र पहले ही तीन लाख तटवर्ती रिहायश वालों को पहले ही अन्य सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया था। यह तूफान 280 किलोमीटर बंगाल की खाड़ी में उठा था। 11 से 12 अक्टूबर तक राज्य में भारी बारिस की आशंका जतायी गई थी।

 

राज्य सरकार ने 18 जिलों में अलर्ट जारी किया था। इसमें चार जिलों में रेड अलर्ट था। पिछले तूफान में हुए जानमाल के नुकसान के कारण सरकार भारी इंतजाम किए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here