तितली की प्रलय तड़के साढ़े पांच बजे ओडिशा व आंध्र में

0
306

भुवनेश्वर। चक्रवाती तूफान तितली सबेरे साढ़े पांच बजे गंजाम जिले के गापोलपुर का समुद्र तट सबसे पहले छुएगा। इसी के साथ शुरू हो जाएगा तबाही का मंजर। मौसम विभाग की माने तो 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार हवाएं कहर बरपा सकती हैं। 11 और 12 अक्टूबर को ओडिशा का तटीय क्षेत्र ठप सा हो जाएगा। यह चक्रवात 100 किलोमीटर दूर ही रह गया है। इसका असर तड़के कलिंगपट्टनम आंध्र और गोपलापुर ओडिशा में सबसे पहले दिखेगा।

राज्य सरकार एहतियातन स्कूल कालेजों में दो दिन की छुट्टी कर दी। ट्रेनें, हवाई जहाज सेवा भी बाधित रहेगी। सार्वजनिक यातायात भी ठप रहेगा। मौसम विभाग के बेहद प्रलयंकारी चक्रवात बताया है। क्षेत्रीय मौसम विभाग के निदेशक एचआर विश्वास के अनुसार यह भयानक चक्रवात होगा। उधर मुख्य सचिव एपी पाढ़ी ने आपदा से निपटने की समस्त तैयारियों की विवरण केंद्र सरकार को सौंप दिया है। बताया गया है कि तबाही का मंजर पुरी, खोरदा और गंजाम जिले में संभव है। इन जिलों के प्रशासन ने तटवर्ती रहने वालों को सुरक्षित स्थान पर भिजवा दिया है। राज्य के तटवर्ती क्षेत्र से तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेजा गया है। तटीय जिलों मे जिला प्रशासन ने कंट्रोल रूम खोल दिए हैं।