आदिवासियों को लुभाने में लगे नवीन, जनजाति मोर्चा घोषित

0
30

भुवनेश्वर। अगले चुनाव के मद्देनजर बीजू जनता दल ने अनुसूचित जनजातियों तक पहुंचने के लिए ताकत लगायी है। ओडिशा में कुल आबादी चार करोड़ की है जिसमें एक करोड़ के आसपास आदिवासी बताये जाते हैं। पार्टी अध्यक्ष मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने दल में अनुसूचित जनजाति मोर्चा का गठन किया है।

पटनायक ने बांगिरिपोसी से विधायक पूर्व मंत्री सुदाम मरांडी अनुसूचित जनजाति मोर्चे का संयोजक नियुक्त किया है। लांजीगढ़ विधायक बलभद्र माझी और कोरापुट सांसद झिना हिकाक को मोर्चा का उपाध्यक्ष नियुक्त किए गए हैं। यह जानकारी बीजद के राज्य सचिव विजय नायक ने दी। मोर्चे में पश्चिम और दक्षिण ओडिशा का भरपूर प्रतिनिधित्व दिया गया है।

इसके अलावा विधायक सुभाष गौंड, जगन्नाथ सराका, दांबारू सिसा, राजीव पात्रा, प्रेमानंद नायक व वरिष्ठ आदिवासी नेता एम्मा एक्का को अनुसूचित जनजाति मोर्चा का महा मंत्री नियुक्त किया। मालूम हो कि आदिवासी कल्याण की कई योजनाएं  राज्यसरकार चला रही है जिनकी मॉनीटरिंग और आम आदिवासी को पूरा लाभ मिलने का काम भी ये पदाधिकारी देखेंगे। इससे पहले नवीन पटनायक ने आदिवासी बहुल 11 जिलों में विशेष विकास परिषद का गठन किया था। आदिवासी वोटरों पर डोरे डालने का यह उनका दूसरा सीधा प्रयास होगा।

जॉर्ज तिर्की पर डोरे

निर्दलीय विधायक जानेमाने आदिवासी नेता जॉर्ज तिर्की को बीजद में लाने की कोशिशें तेज हो गयी हैं। आम चुनाव से पहले बीजद उन्हें शामिल कराना चाहते हैं। हालांकि जॉर्ज इससे इंकार करते हैं।

पश्चिम ओडिशा के सुंदरगढ़ जिले में आदिवासियों की जनसंख्या 51 प्रतिशत बतायी जाती है। यहां से केंद्रीय मंत्री जुएल ओरम (सांसद) और बीरमितत्रपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक जॉर्ज तिर्की आदिवासी समुदाय से ही आते हैं। जॉर्ज का आदिवासी समाज का मजबूत संगठन है। वह खुद को झारखंड मुक्ति मोरचा के शीबू सोरेन और उनके बेटे हेमंत सोरेन के निकट हैं। वह कहते हैं फिलहाल उनका ध्यान संगठन को मजबूत करने पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here