आठवीं में पढ़ने वाली आदिवासी छात्रा को मां बना दिया, रोष

0
128

कंधमाल। दरिंगबाड़ी आठवीं कक्षा की आदिवासी छात्रा के आवासीय स्कूल में ही प्रसव पीड़ा के उपरांत शिशु के जन्म लेने की घटना को लेकर क्षेत्रीय लोगों मे भागी आक्रोश व्याप्त है। गुस्साए लोगों ने एनएच-59 पर जाम लगा दिया। शाम को संदिग्ध युवक को हिरासत में ले लिया गया।

उनकी मांग है कि इस घटना के दोषी को तुरंत गिरफ्तार करके जेल भेजा जाए। सडक जाम के कारण दरिंगबाड़ी से ब्रह्मपुर व अन्य क्षेत्रों को जाने वाले वाहनों की आवाजाही ठप हो गयी। लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। बाद में अनुसूचित एवं जनजाति विभाग के मंत्री रमेश माझी कंधमाल के कलक्टर को जांच के आदेश दिए। पूछताछ के बाद स्कूल की प्रधानाचार्या ने स्वीकारा कि आठवीं क्लास में पढ़ने वाली छात्रा ने बच्चे को जन्म दिया।

इस घटना के बाद प्रधानाचार्या को पूछताछ के लिए हिरासत मे ले लिया गया। कार्रवाई पूरी होने तक स्कूल बंद रखने के आदेश दिए गए। कलक्टर और पुलिस अधीक्षक को स्कूल मं मौकामुआयना को कहा गया है। स्थानी बीजेपी लीडर नेत्रमन सेठ का कहना है कि स्थानीय प्रशासन घटना पर लीपापोती कर रहा है। सच क्या है लोगों के सामने लाया जाए।

आरोप है कि कि छात्रावास मे भी छात्राएओं सुरक्षित नहीं हैं। ऐसी सूरत में आदिवासियों के लिए आवासीय विद्यालय बनाने का क्या अर्थ है। बीजेडी के नेताओं ने सरकार से जांच की मांग की। पुलिस के अनुसार बालीगुडा अस्पताल में बालिका और शिशु का इलाज किया जा रहा है। दोनों की हालत नाजुक है।